Spiti Valley

Places to visit in Spiti Valley
Best time to visit Spiti Valley
How to Reach Spiti Valley
Food of Spiti Valley
Hotels in Spiti Valley
Spiti Valley is a cold desert mountain valley situated in the high Himalayas in the north-eastern part of the north Indian state of Himachal Pradesh. The name "Spiti" means "middle ground", that is, the land between Tibet and India. Long winding roads and valleys that offer an unforgettable glimpse of the cold desert and snow-capped mountains, you are welcome when you set foot in the Spiti Valley. Spiti Valley has an elevation of 12,500 feet above sea level, and gets only 250 days of sunshine a year, making it one of the coldest places in the country. With Spiti cutting thick Himalayan snow from the rest of the country about 6 months of the year, the summer months are the only time that Spiti is directly accessible via the motorway.
Spiti is an adventure lover's paradise, with many trekking trails that tourists can choose from. All these treks lead to various peaks ranging from Kaza (the capital of Spiti where you make your base camp) from where you can have panoramic views of the Himalayan mountains. An easy 1.5-kilometre trek along the river Spiti from Dhankar Lake to Dhankar Lake offers grand views of the villages below. Dhankar Lake is a place in itself where you can sit comfortably amidst the cool mountain breeze.

The hill ropeway from Kibber to Chichum is also another popular tourist attraction that offers spectacular views of the ghats below, as well as a bird's view of the surrounding peaks.

Places to visit in Spiti Valley

1. Chandratal Lake

Chandratal, literally translated into Moon Lake, gets its name from its crescent shape. Located at a distance of 7-8 km from Kunjum Pass, the lake is a major attraction for photographers and adventure seekers.

2. Key Monastery
It is one of the largest and oldest monasteries in Spiti and is, therefore, the most important tourist destination in the region. It ensures statues of Buddha in a state of meditation and also has a collection of ancient books and murals.

3. Kunzum Pass

It has a high mountain pass located on the Eastern Kunz Range. The pass connects the Kullu and Lahaul valley with the Spiti valley. It can be reached from Kaja here. From here, a trek of 9 km is also for visitors to Chandratal's Moon Lake. The peak of the valley offers a picturesque landscape with an amazing view of the Chandra Bhaga ranges that surround it from the north with snow-capped peaks. Chandratal Lake is 7 km from Kunzum Pass.

4. Pin Valley National Park

Situated amidst semi-frozen rivers in Pin Valley, this national park is home to the famous Himalayan snow leopards and rare species of their prey, Ibex.

5. Suraj Tal

Just below the Baralacha Pass, there is a lake, one should not moss here, especially if they are in photography. Suraj Tal is one of the most dreamy and photogenic lakes.

6. Dhankar Monastery

This monastery is situated on a rock between Kaza and Tabo. From here one can see the amazing view of the river Spiti. The monastery has a statue of 'Virochan' displaying four statues of Buddha seated in 4 directions along with ancient paintings, murals and texts.


7. Tabo Monastery
The Tabu Monastery, standing and strong at an altitude of 10,000 feet, is one of the oldest monasteries located in the village of Tabo in Spiti Valley. It is the oldest monastery in India and the Himalayas which has been functioning continuously since its inception. This charming monastery is famous as 'Ajanta of the Himalayas'. This is because the walls of the monastery, like the Ajanta caves in Maharashtra, are decorated with attractive murals and ancient paintings.

8. Dhankar Lake

Dhankar Lake is on the other side of the mountain, 5 km from Dhankar Math, which sits dangerously on the rock. It takes about an hour to reach the lake following a well-marked trail from the monastery.

9. Kibber

Known locally as Khayapur, Kibber is one of the highest villages in the world at an elevation of 4205 meters above sea level. Here you can spend a day in the rest house, and looking at the mountains.

10. Baralacha La

Baralacha La or Baralacha Pass is a pass where various roads meet. The pass serves as a contact point between Lahaul and Ladakh and overlooks three valleys that meet at an altitude of more than 16,000 feet.


11. Pin Valley Park Trek

Situated between the cold desert region of Lahaul and Spiti district, Pin Valley National Park is a paradise for nature lovers and Pin Valley Park is a paradise for adventure spots along the trek. Situated at an altitude of 11,500 feet to 20,000 feet, Pin Valley Park was formed in 1987 as Wildlife Park. Apart from the abundance of wildlife, the Pin Valley Park trek is characterized by the scenic beauty that beautifies the place. It snows for most of the year providing a thrilling and adventurous expedition to the trek. However, make sure that you obtain the necessary permits. Also, foreign countries are not allowed inside the park.

12. Shopping in Spiti

Less known as a typical holiday destination, the tourist area in Lahaul and Spiti is not well developed and finding shops for souvenirs will be difficult here. However, there is a special type of tea known as Spiti tea which according to the locals claims to slow down ageing.


13. Trilokinath Temple

The Trilokinath temple holds religious significance among both Tibetan Buddhists and Hindus. The temple is situated on a rock at the end of a street in Tunde village. The three-day Pauri festival during August is a good time to visit the temple.

14. Trek in Spiti Valley

Spiti is a haven for adventure seekers and trekkers as it offers a trek through some of the most overlooked, dream-like landscapes, seen by majestic science.

15. Spiti Valley Bike Trip

Being in the Trans-Himalayan region, Spiti's area is best suited for mountain biking and tops the list of any mountain biker.

16. Shashur Monastery
Shashur Math derives its name from the blue pines around it. It is a three-storey structure located at a distance of 35-40 km from Manali.

17. Gandhola Monastery

The monastery is famous for its wooden sculptures, which are different from the clay sculptures found in all other monasteries. The monastery is founded by Padma Sambhav and is more than 800 years old.

18. Keylong Market

Keylong Market has a variety of options including woollen shawls, mufflers, stoles, baby shawls, ponchos, and caps made of capora or pashmina yarn among other items. Do not forget to bargain for the best price.

19. Tayul Monastery

The Tayul Monastery has the largest statue of Padma Sambhava, about 12 feet tall, in his two manifestations as Sinhmukhi and Vajravarahi. Gompa also has a hundred million gem wheels, which are supposed to open the minds of visitors to the grace of God.

20. Tangayud Monastery

Tangyud resembles a fortified castle with huge and overlooked mud walls and battlements. Built on the edge of a deep valley, Tangyud is one of only two monasteries belonging to the Shakya sect in Spiti.

21. Kardang Monastery

Kardang Monastery is situated in a beautiful landscape amidst greenery, mountains and Bhaga River. It is close to Keylong, a small town in Himachal. From the distance, you can see the magnificent white building adorned with prayer flags.

22. Kungri Monastery

Situated in the Pin Valley, overlooking the picturesque backdrop, Kungri Gompa is the second oldest monastery in the Spiti Valley and follows only Ningampa Buddhism.

23. Gue

Gue is a small village in the Spiti Valley, also known as Mummy Village, as it has a monk's mummy housed inside a mausoleum. According to Carbon Dating, Mami is 500 to 600 years old. It is dressed in silk robes and kept in squatting condition. It was discovered in the year 1975.

24. Rafting

Rafting is one of the most thrilling things in Spiti. Riding the tide in the backdrop of emerald hills and lush greenery is a lifetime experience. You can try the activity in the Pin and Spiti rivers. This rafting activity covers an average distance of 180 km.

25. Fossil Hunting

Fossil hunting is an activity unique to Spiti that is still not very popular. However, it is a very exciting activity, especially if you are a history or archaeology enthusiast. There is a high chance that you will find one because the area around Langza and Hikkim is surrounded by fossils. If not, you will find locals selling these fossils that you can buy as souvenirs to take back home.

26. Stargazing


Stargazing is a unique experience that is especially pleasant in the hills. And Spiti Valley is a place where you can enjoy this surreal experience. On clear nights, you can see the night sky adorned with stars like millions of diamonds. While the activity is in itself, extremely peaceful, it is also a time to reminisce and is going to be a lifetime experience for you.

27. Yak Safaris

Yak and horse safaris are the best and most popular and loved ways to explore this area.

28. Tibetan Shops

There are many Tibetan shops where gems and jewellery, local jewellery, semi-precious stones as well as ceramic utensils can be purchased.

29. Thangka Painting

Thangka painting is a Buddhist painting made on cotton and silk. When they are not used for display, they are rolled up and placed on a textile backing, which looks like Chinese scroll paintings, with a silk cover. They can last longer. But they are delicate, hence they are kept in dry places so as not to be affected by moisture. The painting depicts a Buddhist deity or a scene.

30. Sarchu

Sarchu, which is situated in the border of Ladakh and Himachal Pradesh, is usually chosen as an overnight stop for those travelling along the Leh-Manali highway. It is 222 kilometres from Manali and 252 kilometres from Leh.

31. Tashigang

Situated in the Sutlej river valley near the Indo-Tibet border, Tshing is a quaint little village in Himachal Pradesh which is also the highest point in the Spiti Valley. Situated at an altitude of 4650 meters, the village has only four houses with a total population of 6 families and around 40 people in all. With gorgeous mountain views and narrow winding roads, the ancient hamlet provides a place of peace and quiet.

Best time to visit Spiti Valley


The best time to visit Spiti is from March to June. Those who are on a relaxing holiday should visit Spiti in this season when the temperature ranges from 0 - 15 degrees Celsius, which starts in March and lasts till June. In Spiti, winters are for courage. Road connectivity during winters is unreliable with the Manali-Kaza highway being cut. Snow leopard expedition is an activity that takes the cake this season. It is best to avoid planning a trip to Spiti during the monsoon months (July-September), as frequent heavy rains, followed by landslides and slippery roads, can significantly spoil your holiday mood.

How to reach Spiti Valley

Situated in the state of Himachal Pradesh, Spiti is a beautiful and serene valley, amidst the mighty Himalaya Mountains. Kept remotely, it does not have its railway station or airport, but it is still readily available. Here's how to reach Spiti:

By Air
The nearest airport in Spiti region is Kullu Airport at Bhuntar, Kullu. This airport is well connected to important cities of the country. One can hire a cab or cab to reach the destination. The journey is about 5 hours.

By train
The nearest railway stations to Spiti Valley are Joginder Nagar railway station and Shimla railway station. To reach the valley, you can hire a taxi from the railway station or board a bus going to Spiti.

From  Road the way
Spiti is well connected by road from May to November to other cities and surrounding states. You can board Himachal Pradesh State Transport buses and other private buses from Manali, which pass through Kunjum La Pass or hire a jeep and car to reach Spiti. There is another road which runs from Shimla to Spiti Valley via Kinnaur district.

Food of Spiti Valley
Spiti's cuisine has an interesting mix of dishes that anyone should enjoy. Although Tibetan cuisine dominates the plaintiffs here, one enjoys North-Indian cuisine as well as Israeli cuisine. The village flows with barley fields which are the largest source of food. The grains are used to produce araq (barley whiskey), chang (barley beer); And roasted flour is made into laddu or breakfast cereal called thungpa. Local foods not to be missed include Momos, Thukpa, Butter Tea, Chang (locally made beer), Arkah (locally made whiskey) and more. Apart from these, aromatic and aromatic teas such as lemon, mint, ginger, honey garnish dishes are quite popular.


Hotels in Spiti Valley

1.Hotel Deyzor
2.The Anantmaya Resort
3. ShivAdya Resort & Spa
4.The Himalayan
5.Apple Country Resort
6.The Holiday Villa Resort & Spa
7.Holiday Heights Manali
8. Alokik Resort- Pure Veg

स्पीति घाटी हिमाचल प्रदेश के उत्तर भारतीय राज्य के उत्तर-पूर्वी भाग में उच्च हिमालय में स्थित एक ठंडी रेगिस्तान की पहाड़ी घाटी है। "स्पीति" नाम का अर्थ "मध्य भूमि" है, अर्थात् तिब्बत और भारत के बीच की भूमि। लंबी घुमावदार सड़कें और घाटियाँ जो ठंड के रेगिस्तान और बर्फ से भरे पहाड़ों की अविस्मरणीय झलक पेश करती हैं, जब आप स्पीति घाटी में पैर रखते हैं तो आपका स्वागत है। स्पीति घाटी की समुद्र तल से 12,500 फीट की ऊँचाई है, और साल में सिर्फ 250 दिन धूप मिलती है, जिससे यह देश की सबसे ठंडी जगहों में से एक है। साल के लगभग 6 महीने देश के बाकी हिस्सों से मोटी हिमालयन बर्फ काटने वाली स्पीति के साथ, गर्मी के महीने एकमात्र ऐसे समय होते हैं जब स्पीति मोटरमार्ग के माध्यम से सीधे पहुँचा जा सकता है।
स्पीति एक साहसिक प्रेमी स्वर्ग है, जिसमें कई ट्रेकिंग ट्रेल्स हैं जिन्हें पर्यटक चुन सकते हैं। ये सभी ट्रेक काज़ा (स्पीति की राजधानी जहाँ से आप अपना आधार शिविर बनाते हैं) से लेकर विभिन्न चोटियों तक पहुँचते हैं जहाँ से आप हिमालय के पहाड़ों के मनोरम दृश्य देख सकते हैं। धनकर झील से धनकर झील तक स्पीति नदी के किनारे एक आसान 1.5 किलोमीटर का ट्रेक नीचे के गांवों के भव्य दृश्य पेश करता है। धनकर झील अपने आप में एक ऐसी जगह है जहाँ आप शांत पहाड़ की हवा के बीच आराम से बैठ सकते हैं।

किब्बर से चिचुम तक का पहाड़ी रोपवे भी एक और लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है जो नीचे के घाट के शानदार दृश्य पेश करता है, साथ ही आसपास की चोटियों का एक पक्षी का दृश्य भी है।स्पीति घाटी में घूमने की जगहें

1. चंद्रताल झील

चंद्रताल, का शाब्दिक रूप से मून लेक में अनुवाद किया गया, इसका नाम इसके अर्धचंद्राकार आकार से मिलता है। कुंजुम दर्रे से 7-8 किमी की दूरी पर स्थित, झील फोटोग्राफरों और रोमांच चाहने वालों के लिए एक प्रमुख आकर्षण है।

2. प्रमुख मठ

यह स्पीति में सबसे बड़े और सबसे पुराने मठों में से एक है और इसलिए इस क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है। यह ध्यान की स्थिति में बुद्ध की मूर्तियों को सुनिश्चित करता है और इसमें प्राचीन पुस्तकों और भित्ति चित्रों का भी संग्रह है।

3. कुंजुम दर्रा

इसका एक ऊँचा पर्वत दर्रा पूर्वी कुंज्ज़ रेंज पर स्थित है। दर्रा कुल्लू और लाहौल घाटी को स्पीति घाटी से जोड़ता है। यहां काजा से पहुंचा जा सकता है। यहाँ से, 9 किमी का एक ट्रेक चंद्रताल की चंद्रमा झील के लिए आगंतुकों के लिए भी है। घाटी की चोटी चंद्रा भगा पर्वतमाला के अद्भुत दृश्य के साथ एक सुरम्य परिदृश्य प्रदान करती है जो इसे बर्फ से ढकी चोटियों के साथ उत्तर की ओर से घेरती है। चंद्रताल झील कुंजुम दर्रे से 7 किमी दूर है।

4. पिन वैली नेशनल पार्क

पिन वैली में अर्द्ध-जमे हुए नदियों के बीच स्थित, यह राष्ट्रीय उद्यान प्रसिद्ध हिमालयी हिम तेंदुओं और उनके शिकार, Ibex की दुर्लभ प्रजातियों का घर है।

5. सूरज ताल

बारालाचा दर्रे के ठीक नीचे, एक झील है, यहाँ किसी को काई नहीं करनी चाहिए, खासकर अगर वे फोटोग्राफी में हों। सूरज ताल सबसे अधिक सपने देखने वाली और फोटोजेनिक झीलों में से एक है।

6. धनकर मठ

यह मठ काज़ा और ताबो के बीच एक चट्टान पर स्थित है। यहां से स्पीति नदी का अद्भुत नजारा देखा जा सकता है। इस मठ में प्राचीन चित्रों, भित्ति चित्रों और ग्रंथों के साथ 4 दिशाओं में विराजमान बुद्ध की चार प्रतिमाओं को प्रदर्शित करने वाली 'विरोचन' की मूर्ति है।


7. तबो मठ

10,000 फीट की ऊंचाई पर खड़ी और मजबूत तब्बू मठ, स्पीति घाटी के ताबो गांव में स्थित सबसे पुराने मठों में से एक है। वास्तव में, यह भारत और हिमालय का सबसे पुराना मठ है जो अपनी स्थापना के बाद से लगातार काम कर रहा है। यह आकर्षक मठ 'हिमालय के अजंता' के रूप में प्रसिद्ध है। ऐसा इसलिए है क्योंकि महाराष्ट्र में अजंता की गुफाओं की तरह मठ की दीवारों को आकर्षक भित्ति चित्रों और प्राचीन चित्रों से सजाया गया है।

8. धनकर झील

धनकर मठ से 5 किमी की दूरी पर, जो चट्टान पर खतरनाक तरीके से बैठता है, पहाड़ के दूसरी तरफ धनकर झील है। मठ से एक अच्छी तरह से चिह्नित निशान के बाद झील तक पहुंचने में लगभग एक घंटे लगते हैं।

9. किब्बर

स्थानीय रूप से ख्यापुर के रूप में जाना जाता है, समुद्र तल से 4205 मीटर की ऊंचाई पर किब्बर दुनिया के सबसे ऊंचे गांवों में से एक है। यहां के रेस्ट हाउस में एक दिन बिता सकते हैं, और पहाड़ों को देखते हुए।

10. बरलाचा ला

बारालाचा ला या बारालाचा दर्रा एक दर्रा है जहाँ विभिन्न सड़कें मिलती हैं। दर्रा लाहौल और लद्दाख के बीच एक संपर्क बिंदु के रूप में कार्य करता है और तीन घाटियों को देखता है जो 16,000 फुट से अधिक की ऊंचाई पर मिलती हैं।


11. पिन वैली पार्क ट्रेक

लाहौल और स्पीति जिले के ठंडे रेगिस्तानी क्षेत्र के बीच स्थित, पिन वैली नेशनल पार्क प्रकृति प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग है और पिन वैली पार्क ट्रेक के साथ साहसिक स्थानों के लिए एक स्वर्ग है। 11,500 फीट से 20,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित, पिन वैली पार्क को 1987 में वाइल्डलाइफ पार्क के रूप में गठित किया गया था। वन्यजीवों की बहुतायत के अलावा, पिन वैली पार्क ट्रेक प्राकृतिक प्राकृतिक सुंदरता की विशेषता है जो जगह को सुशोभित करता है। यह ट्रेक को रोमांचकारी और साहसिक अभियान प्रदान करने वाले वर्ष के अधिकांश भाग के लिए स्नो करता है। हालाँकि, सुनिश्चित करें कि आप आवश्यक परमिट प्राप्त करते हैं। साथ ही, विदेशी देशों को पार्क के अंदर जाने की अनुमति नहीं है।

12. स्पीति में खरीदारी

एक विशिष्ट छुट्टी गंतव्य के रूप में कम जाना जाता है, लाहौल और स्पीति में पर्यटन क्षेत्र अच्छी तरह से विकसित नहीं है और स्मृति चिन्ह के लिए दुकानें ढूंढना यहां मुश्किल होगा। हालाँकि, यहाँ एक विशेष किस्म की चाय है जिसे स्पीति चाय के नाम से जाना जाता है जो स्थानीय लोगों के अनुसार उम्र बढ़ने को धीमा करने का दावा करती है।


13. त्रिलोकीनाथ मंदिर

त्रिलोकीनाथ मंदिर तिब्बती बौद्धों और हिंदुओं दोनों के बीच धार्मिक महत्व रखता है। मंदिर तुंडे गांव में एक गली के अंत में एक चट्टान पर स्थित है। अगस्त के दौरान तीन दिवसीय पौड़ी उत्सव मंदिर में जाने का अच्छा समय है।

14. स्पीति घाटी में ट्रेक

स्पीति साहसिक चाहने वालों और ट्रेकर्स के लिए हेवन है क्योंकि यह कुछ सबसे अनदेखी, सपने की तरह परिदृश्य के माध्यम से ट्रेक प्रदान करता है, राजसी विज्ञान द्वारा देखे गए।

15. स्पीति वैली बाइक ट्रिप

ट्रांस-हिमालयी क्षेत्र में होने के कारण, स्पीति का इलाका माउंटेन बाइकिंग के लिए सबसे अनुकूल है और किसी भी माउंटेन बाइकर की सूची में शीर्ष की ओर है।...

16. शशूर मठ

शशूर मठ, इसके चारों ओर नीले पाइंस से अपना नाम प्राप्त करता है। यह एक तीन मंजिला संरचना है जो मनाली से 35-40 किमी की दूरी पर स्थित है।

17. गोंडोला मठ

मठ अपनी लकड़ी की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है, जो अन्य सभी मठों में पाई गई मिट्टी की मूर्तियों से अलग हैं। मठ की स्थापना पद्म सम्भव द्वारा की गई है और यह 800 साल से अधिक पुराना है।

18. कीलोंग मार्केट

कीलोंग मार्केट में ऊनी शॉल, मफलर, स्टोल, बेबी शॉल, पोंचोस, और केपोरा या पश्मीना यार्न से बने अन्य सामानों के बीच कैप सहित कई विकल्प हैं। सर्वोत्तम मूल्य के लिए सौदा करने के लिए मत भूलना।

19. तैल मठ

तैमूर मठ में सिंहमुखी और वज्रवाराही के रूप में उनकी दो अभिव्यक्तियों में लगभग 12 फीट लंबी पद्म सम्भव की सबसे बड़ी मूर्ति है। गोम्पा में सौ मिलियन मणि पहिए भी हैं, जो कि भगवान की अनुकंपा के लिए आगंतुकों के दिमाग खोलने वाले हैं।

20. टंगायुद मठ

Tangyud विशाल और अनदेखी मिट्टी की दीवारों और लड़ाई के साथ एक गढ़वाले महल जैसा दिखता है। एक गहरी घाटी के किनारे पर निर्मित, Tangyud स्पीति में शाक्य संप्रदाय से संबंधित केवल दो मठों में से एक है।

21. कर्दांग मठ

कार्दांग मठ हरियाली, पहाड़ों और भागा नदी के बीच सुंदर परिदृश्य में स्थित है। यह हिमाचल के एक छोटे से शहर केलांग के करीब है। आप दूर से प्रार्थना झंडे के साथ सजी शानदार सफेद इमारत देख सकते हैं।

22. कुंगरी मठ

पिन घाटी में स्थित, सुरम्य पृष्ठभूमि को देखते हुए, कुंगरी गोम्पा स्पीति घाटी में दूसरा सबसे पुराना मठ है और केवल निंगमापा बौद्ध धर्म का अनुसरण करता है।

23. जीयू

ग्यू स्पीति घाटी का एक छोटा सा गाँव है जिसे मम्मी गाँव के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इसमें एक भिक्षु की ममी है जिसे एक मकबरे के अंदर रखा गया है। कार्बन डेटिंग के अनुसार, ममी 500 से 600 साल पुरानी है। इसे रेशम के परिधानों में तैयार किया गया है और इसे स्क्वाटिंग की स्थिति में रखा गया है। इसकी खोज वर्ष 1975 में हुई थी।

24. राफ्टिंग

स्पीति में राफ्टिंग सबसे रोमांचकारी चीजों में से एक है। पन्ना पहाड़ियों और हरे-भरे हरियाली की पृष्ठभूमि में ज्वार की सवारी करना जीवन भर का अनुभव है। आप पिन और स्पीति नदियों में गतिविधि की कोशिश कर सकते हैं। राफ्टिंग की यह गतिविधि औसतन 180 किमी की दूरी तय करती है।

25. जीवाश्म शिकार

फॉसिल हंटिंग एक गतिविधि है जो स्पीति के लिए अद्वितीय है जो अभी भी बहुत लोकप्रिय नहीं है। हालांकि, यह एक बहुत ही रोमांचक गतिविधि है, खासकर यदि आप एक इतिहास या पुरातत्व के प्रति उत्साही हैं। इस बात की प्रबल संभावना है कि आप एक पाएंगे क्योंकि लंगज़ा और हिक्किम के आस-पास का क्षेत्र जीवाश्मों से घिरा है। यदि नहीं, तो आपको इन जीवाश्मों को बेचने वाले स्थानीय लोग मिल जाएंगे जिन्हें आप घर वापस लेने के लिए स्मृति चिन्ह के रूप में खरीद सकते हैं।

26. स्टारगिंग


स्टारगेज़िंग एक अनूठा अनुभव है जो विशेष रूप से पहाड़ियों में सुखद है। और स्पीति घाटी एक ऐसी जगह है जहाँ आप इस असली अनुभव को एंजाय कर सकते हैं। साफ़ रातों पर, आप लाखों हीरे जैसे सितारों से सजे रात के आसमान को देख सकते हैं। जबकि गतिविधि अपने आप में है, बेहद शांतिपूर्ण है, यह याद दिलाने का भी समय है और निश्चित रूप से आपके लिए जीवन भर का अनुभव होने वाला है।

27. याक सफारिस

इस क्षेत्र का पता लगाने के लिए याक और हॉर्स सफारिस सबसे अच्छे और सबसे लोकप्रिय और प्रिय तरीके हैं।

28. तिब्बती दुकानें

यहां कई तिब्बती दुकानें हैं, जहां रत्न और आभूषण, स्थानीय आभूषण, अर्ध-कीमती पत्थरों के साथ-साथ सिरेमिक बर्तनों की भी खरीदारी की जा सकती है।

29. थंगका पेंटिंग

थांगका पेंटिंग कपास और रेशम पर बनी एक बौद्ध पेंटिंग है। जब उन्हें प्रदर्शन के लिए उपयोग नहीं किया जाता है, तो उन्हें लुढ़काया जाता है और एक टेक्सटाइल बैकिंग पर रखा जाता है, जो चीनी स्क्रॉल चित्रों की तरह दिखता है, जिसमें रेशम कवर होता है। वे लंबे समय तक रह सकते हैं। लेकिन वे नाजुक प्रकृति के होते हैं, इसीलिए उन्हें सूखे स्थानों पर रखा जाता है ताकि नमी से प्रभावित न हों। पेंटिंग में एक बौद्ध देवता या एक दृश्य दिखाया गया है।

30. खोज

सरचू, जो लद्दाख और हिमाचल प्रदेश की सीमा में स्थित है, आमतौर पर लेह-मनाली राजमार्ग के साथ यात्रा करने वाले लोगों के लिए रात भर के ठहराव के रूप में चुना जाता है। यह मनाली से 222 किलोमीटर और लेह से 252 किलोमीटर की दूरी पर है।

31. तशींग

भारत- तिब्बत सीमा के पास सतलज नदी घाटी में स्थित, तशींग हिमाचल प्रदेश का एक विचित्र छोटा गाँव है जो स्पीति घाटी का सबसे ऊँचा स्थान भी है। 4650 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, इस गांव में 6 परिवारों की कुल आबादी के साथ सिर्फ चार घर हैं और सभी में लगभग 40 लोग हैं। भव्य पहाड़ी दृश्यों और संकरी घुमावदार सड़कों के साथ, प्राचीन हैमलेट शांति और शांत जगह की तरह प्रदान करता है।

स्पीति घाटी घूमने का सबसे अच्छा समय


स्पीति की यात्रा का सबसे अच्छा समय मार्च से जून तक है। जो लोग एक आराम की छुट्टी में हैं, उन्हें इस मौसम में स्पीति की यात्रा करनी चाहिए, जब तापमान 0 - 15 डिग्री सेल्यियस से होता है, जो मार्च में शुरू होता है और जून तक रहता है। स्पीति में सर्दियाँ साहस के लिए होती हैं। मनाली-काजा राजमार्ग कटने के साथ सर्दियों के दौरान सड़क संपर्क अविश्वसनीय है। हिम तेंदुए का अभियान एक गतिविधि है जो इस मौसम में केक लेती है। मॉनसून के महीनों (जुलाई- सितंबर) के दौरान स्पीति की यात्रा की योजना बनाने से बचना सबसे अच्छा है, क्योंकि लगातार भारी बारिश, इसके बाद भूस्खलन और फिसलन भरी सड़कें, आपकी छुट्टी के मूड को काफी हद तक खराब कर सकती हैं।

स्पीति घाटी कैसे पहुँचें

हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित, शक्तिशाली हिमालय पर्वत के बीच, स्पीति एक सुंदर और निर्मल घाटी है। दूर से रखा गया, इसका अपना रेलवे स्टेशन या हवाई अड्डा नहीं है, लेकिन यह अभी भी आसानी से उपलब्ध है। यहाँ है कैसे स्पीति पहुँचने के लिए:

हवाईजहाज से
स्पीति क्षेत्र का निकटतम हवाई अड्डा भुंतर, कुल्लू में कुल्लू हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा देश के महत्वपूर्ण शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। एक गंतव्य तक पहुंचने के लिए एक टैक्सी या टैक्सी किराए पर ले सकता है। यात्रा लगभग 5 घंटे की है।

ट्रेन से
स्पीति घाटी के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन और शिमला रेलवे स्टेशन हैं। घाटी तक पहुँचने के लिए, आप रेलवे स्टेशन से टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या स्पीति जाने वाली बस में भी सवार हो सकते हैं।

रास्ते से
स्पीति मई से नवंबर तक अन्य शहरों और आसपास के राज्यों के लिए सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप मनाली से हिमाचल प्रदेश राज्य परिवहन की बसों और अन्य निजी बसों पर सवार हो सकते हैं, जो कुंजुम ला पास से गुजरती हैं या स्पीति पहुंचने के लिए जीप और कार किराए पर ले सकते हैं। एक और सड़क है जो शिमला से किन्नौर जिले के रास्ते स्पीति घाटी तक जाती है।

स्पीति घाटी का भोजन

स्पीति के व्यंजनों में व्यंजनों का एक दिलचस्प मिश्रण है, जिसे किसी को भी भोगना चाहिए। हालांकि, तिब्बती भोजन यहाँ के वादियों पर हावी है, एक को उत्तर-भारतीय भोजन के साथ-साथ इजरायल के भोजन का भी आनंद मिलता है। गांव जौ के खेतों के साथ बहता है जो भोजन का सबसे बड़ा स्रोत है। अनाज का उपयोग अरक (जौ व्हिस्की), चंग (जौ बीयर) का उत्पादन करने के लिए किया जाता है; और भुना हुआ आटा लड्डू या नाश्ते के अनाज में बनाया जाता है जिसे थुंग्पा कहा जाता है। जिन स्थानीय खाद्य पदार्थों को याद नहीं करना चाहिए उनमें मोमोस, थुकपा, बटर टी, चांग (स्थानीय स्तर पर बनी बीयर), अर्काह (स्थानीय स्तर पर बनाई गई व्हिस्की) और बहुत कुछ शामिल हैं। इनके अलावा, सुगंधित और सुगंधित चाय जैसे कि नींबू, पुदीना, अदरक, शहद के गार्निश वाले व्यंजन काफी लोकप्रिय हैं।





























#spitivalley #spitivalleydiaries #spitivalleyescape #spitivalleytrip #spitivalleytours #spitivalleyadventure #spitivalleybiketrip #spitivalleybikeride #spitivalleybiking #spitivalleybiketour #spitivalleycyclotour #spitivalleyfirstview #spitivalleyholiday #spitivalleyhimachal #spitivalleyhotel #spitivalleyhighway #spitivalleyindia #spitivalleyjourney #spitivalleyladakh #spitivalleylife #spitivalleymemories #spitivalleynationalpark #spitivalleynaturehimachal #spitivalleyonbike

Comments

Popular posts from this blog

Virtual Kids World Tour on Zoom Visit GlobalVillage 40 Countries in just 60 Day

DBA Apply for Best A1 Cabs Franchise in India

Best Car Rental Indore 9111157264